Top 20 Best Qualities of Music Learner and Music Teacher (Part-1)

Top 20 Best Qualities of Music Learner and Music Teacher (Part-1)

Spread the love

Rate this post

🙏🇭🇲🎶🇦🇮🎻🇨🇦🎵🇲🇾🎤🇱🇷🎷🇬🇧🎼🎵🇳🇪🙏

Top 20 Best Qualities of Music Learner and Music Teacher (Part-1)

Friends, there are many people in this world who want to learn music and want to earn money and fame in the field of music by learning music, becoming a good singer, musician or an instrument player, whenever they become a big singer, When we see a musician or an instrument player, then a thought comes in their mind that I wish we too would have become like them and we would have a name in the field of music, we would have money, we too would have millions of fans, followers and We also wish to become a celebrity, we also have millions of fans, followers and we also wish to become a celebrity, and after thinking all these things some people think that we too should try our luck once in the field of music. Try to become a singer, musician or an instrument player, why don’t we also learn music, and after thinking this, they decide to learn music. But before learning music, many questions related to music keep coming in his mind that what kind of guru (Teacher) should be made? What kind of guru (Teacher) should not be made? Will he have proper knowledge of music or not? Will he scold us somewhere or not? Wouldn’t his fee be too high? And wouldn’t it take a lot of time to teach music? Many such questions often come in their mind who are thinking about learning music. And on the other hand there are people who have learned music. They also think that what should be the student learning music who comes to us, what good qualities should be in him so that he learns music in a proper way, to illuminate himself and his name too, whom to teach music to? To whom should you not teach music? To whom we are teaching music. Will he pay the fees properly or not or will he repack? Those who think about teaching music after learning music for a few days also keep coming to their minds like this,

Friends, in this post I will tell you that if you want to learn music then how should you become a guru and if you have learned music and are thinking of teaching music then how should you make a student. What good qualities should he have? What good qualities should a learner have and what good qualities should a teacher have. If you read this post completely and carefully then you will know very well. I will write two parts of this post, both the parts will be very knowledge-full and will be very useful in your life. In the first part, I will tell you what are the good qualities a music learner should have so that he can learn music very easily and be successful. In the second part I will tell you what qualities a teacher should have in a music teacher.

Read More:–How to make a career in music field ? Or How to Start Career in Music? (Part-1)

Note:– If you like this post and find it knowledgeable, then please Vote, Support and Share this post.( Press the star symbol at the beginning of the post.)

So let’s now start the first part of this post and tell you what are the good qualities a music learner should have, that is, what are the special things by which he can impress his master and quickly. I can learn music from you quickly. Before telling those special things, I would like to tell you all that if you want to learn music online without any guru maestro just sitting at your home through your mobile laptop or computer then you can visit this website. can follow. I have written many such posts on this website. By reading which you can learn online and along with that you can also watch my YouTube channel Mr. Jollys Music Classes You can also follow. On that too, I have uploaded many videos related to Indian classical and folk music by watching which you can listen to music online. If you like those videos then you can also subscribe my channel.

Read More:–How to Become a Singer, Musician, Instrument Player or Music Teacher by Learning Music?

Point No. (1)

The first and best quality in a learner of music should be that he should know about the Guru Shishya tradition and should also follow it. The Guru Shishya (Teacher and Student) tradition is not of today. This king is coming from the time of the Maharajas. Under the Guru Shishya tradition, a student fully respects and serves his guru and receives education from him. Be it music or any other education, he receives from his guru. He gives full respect to his Guru so that he can win the heart of his Guru (Teacher) and the Guru is kind to him and teaches him in a very good way. Therefore, any student learning music must follow this basic mantra.

Point No. (2)

The second and best quality in any music learner is that he should have an yearning for music. That is, there should be true passion, because when you learn any work with full dedication, then you understand that work very easily and you also become successful in doing that work very quickly. Let me tell you one more thing about music that music is a serious subject. It takes some time to learn this. Some people think that we will learn music very quickly. Will learn in 1 month 2 or 6 months. nothing of the sort. It takes at least two-three years to learn music properly. You must have seen many such books and also seen videos on YouTube, in which it is said that if you learn music in 2 months, learn it in 4 months, then there is nothing like it. You have to give time to the music. It has to be practiced continuously, then only then you get to know something about music.

Read More:–After all ! How long does it take to learn music?

Point No. (3)

The third and good quality in a music learner is that he also has the yearning to learn more and more music and he also does more and more experiments in music. It is always in his mind that I should learn this too. Let me learn that too. I will sing this too and play that too and whatever he learns, he keeps experimenting in it. For example, if he has learned any ornament, then he keeps trying to sing and play it in different ways. By doing this, his knowledge improves. His experience increases and his fingering speed also increases. This is also a very good quality of a music learner.

Point No. (4)

The fourth quality of a music learner is that he should be completely honest about his practice. No matter what happens, a music learner should regularize his practice. Initially, you should do as much riyaz (Music Practice) as possible. Later he can do less. One can also do two hours but maximum Riyaz (Music Practice) should be done in the beginning.

Point No. (5)

The fifth quality of a music learner is that whoever wants to make a career in the field of music, they should fully appreciate the time because if you waste time today, then tomorrow time will waste you, so that is why most of the music learner The focus should be on learning music in learning music and listening to good music because this is the thing that will come in handy in your life going forward. Because if you have good preparation then only you will be able to become a successful singer, musician or instrument player.

Point No. (6)

The 6th good quality of a music learner is that he learns every detail of music with great depth and attention. Whether it is a melody, a raga, a raga’s bandish, a taan, a song, a bhajan, a ghazal or a khatka. , Murki, Meand, anyone who has the nuances of such music learns it with great attention. Not only learns but also uses it in his singing and playing and along with it also includes in his stage performance and makes his singing and his playing even better and entertains the music listeners in a very good way.

Friends, if you do not know what are the nuances that are important to learn for a music learner, then I have also written two posts on that topic on this website, and also made a video on my YouTube channel. You can also read those posts for more information and also watch that video for more information.

Read More:–These 10 Subtleties of Music Can Make your Singing a lot better (Part-1)

Point No. (7)

The 7th good quality of a music learner is that he participates in the programs happening in his neighborhood. Attends them and carefully observes those programs which singers or instrumentalists are singing or playing, and interacts with them and learns something from them also and keeps the matr ready with him. In any diary or register, Geet,(Song) Ghazal Bhajan, whatever his song is, he writes it down so that he can easily sing it in further programs,

Point No. (8)

The eighth good quality of a music learner is that he has full respect for all his senior artists and learns something from them too and never gets jealous with his equal beginners.

Point No. (9)

The 9th quality of a music learner is that he learns music with grammar, along with learning whatever he learns, he also notes it in his diary or register so that he can revise it in future and for any future purpose. Can teach others.

Point No. (10)

This is the next good quality of a music learner. He stays away from any bad addiction and demerits. Such as drunkenness, wandering, beating, fighting, fighting, the only motive of a music learner should be that I should do my Riyaz (Music Practice) honestly and learn music. Because if Riyaz (Music Practice) only That is something that makes you a great singer, musician or instrument player and you are successful in the field of music. So music learners should stay away from such bad habits and keep their full focus on music so that they can go ahead. To be successful

So friends, these were some good qualities of a music learner, if you are also learning music or want to learn music, then by adopting these qualities, you too can learn music very easily and quickly. Apart from this, if you are learning singing or learning to play an instrument, then what are the good qualities a singer and instrumentalist should have. I have also written a post on that subject and made it in a video. If you want, you can also watch that video by visiting Mr. Jollys Music Classes on my YouTube channel and you can also read that post on this website. With this in the next post I will tell you what is in a music teacher who teaches music What should be good qualities? That post will also be very knowledge-rich. If music learners will read that post, then they will get a lot of knowledge and it will be easy for them to decide what kind of teacher we should make for learning music.

Read More::–Good Qualities of a Singer and Musician

Note :— Friends, if you have any question related to Indian Classical Music or you want to give any suggestion, then you can tell me by commenting below this post. And if you want to read a post on a particular topic and you want me to write a post on that topic or else you want to learn to sing and play a particular song, Ghazal, Bhajan or Qavali on Harmonium or Keyboard and you want If I make a video by making its notation, then you can also tell me about it by commenting below this post. I will try my best to write post and make video on that topic.

You can also Visit and Subscribe to My YouTube channel Mr.jolly’s Music Classes to See Knowledgeful Videos of Theory and Practical related to Music,

Note:—-You can also follow me on my podcast channels to learn and understand music more easily, where I upload audio episodes related to music. You will find links to both in the description of any video on my YouTube channel ‘Mr. Jolly’s Music Classes

🙏🇭🇲🎶🇦🇮🎻🇨🇦🎵🇲🇾🎤🇱🇷🎷🇬🇧🎼🎵🇳🇪🙏

संगीत के गुरू और शिष्य के 20 अच्छे गुण (भाग-1)

दोस्तो इस दुनिया में ना जाने कितने ही लोग ऐसे हैं जो संगीत सीखना चाहते हैं और संगीत सीखकर एक अच्छे सिंगर, संगीतकार या फिर एक इंस्ट्रूमेंट प्लेयर बनकर संगीत के फील्ड में नाम पैसा और शोहरत कमाना चाहते हैं,वह लोग जब भी किसी बड़े सिंगर, संगीतकार या फिर किसी इंस्ट्रूमेंट प्लेयर को देखते हैं तो उनके मन में भी यह ख्याल आता है कि काश हम भी इन जैसे बन जाते और संगीत के फील्ड में हमारा भी नाम होता हमारे पास भी पैसा होता,हमारे भी लाखों करोड़ों फैन, फोलोवर होते और हम भी काश एक सेलिब्रिटी बन जाते, हमारे भी लाखों करोड़ों फैन, फोलोवर होते और हम भी काश एक सेलिब्रिटी बन जाते, और यही सब बातें सोचने के बाद कुछ लोग सोचते हैं कि हम भी संगीत के फील्ड में एक बार अपनी किस्मत आजमाएं हम भी एक सिंगर, संगीतकार या फिर एक इंस्ट्रूमेंट प्लेयर बनने की कोशिश करेंं क्यों ना हम भी संगीत सीख लें,और यही सोचने के बाद वह संगीत सीखने का फैसला कर लेते हैं। लेकिन संगीत सीखने से पहले संगीत से रिलेटेड उनके मन में बहुत सारे सवाल आते रहते हैं कि कैसा गुरु बनाना चाहिए ? कैसा गुरु नहीं बनाना चाहिए ? उसको संगीत का प्रॉपर ज्ञान होगा कि नहीं? कहीं वह हमको डांटेगा तो नहीं ? कहीं उसकी फीस ज्यादा तो नहीं होगी ? और संगीत सिखाने में ज्यादा टाइम तो नहीं लगाएगा? ऐसे बहुत सारे सवाल उनके मन में अक्सर आते रहते हैं जो संगीत सीखने के बारे में सोच रहे होते हैं।और दूसरी तरफ वह लोग होते हैं जो संगीत सीख चुके होते हैं। वह भी सोचते हैं कि हमारे पास जो संगीत सीखने वाला विद्यार्थी आए वो कैसा होना चाहिए, उसमें क्या-क्या अच्छे गुण होने चाहिए तांकि वो प्रॉपर तरीके से संगीत सीखे अपना और उसका भी नाम रोशन करेकिसको संगीत सिखाएं ? किसको संगीत ना सिखाएं ? जिसको हम संगीत सिखा रहे हैं। वह सही तरीके से फीस देगा कि नहीं या वो रिसपैकट करेगा कि नहीं? जो कुछ दिन संगीत सीखने के बाद संगीत सिखाने के बारे में सोचते हैं उनके भी मन में ऐसे ही सवाल आते रहते हैं,

दोस्तो इस पोस्ट में मैं आपको बताउँगा कि अगर आप संगीत सीखना चाहते हैं तो आप कैसा गुरु बनाएं और अगर आप संगीत सीख चुके हैं और संगीत सिखाने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको कैसा सटूडैंट बनाना चाहिए। उसमें क्या-क्या अच्छे गुण होने चाहिए। एक सीखने वाले में कैसे-कैसे अच्छे गुण होने चाहिए और सिखाने वाले में कैसे-कैसे अच्छे गुण होने चाहिए। अगर आप इस पोस्ट को पूरा और ध्यान से पढ़ लेंगे तो आपको अच्छी तरह पता चल जाएगा। मैं इस पोस्ट के दो भाग लिखूंगा,दोनों ही भाग बहुत ही नॉलेजफुल होंगे और आपके जीवन में बहुत काम आएंगे। पहले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि एक संगीत सीखने वाले में क्या-क्या अच्छे गुण होने चाहिए तांकि वो बड़ी आसानी से संगीत सीख सके और कामयाब हो सके। दूसरे भाग में मैं आपको बताऊंगा कि एक संगीत सिखाने वाले गुरू में क्या गुण होने चाहिए?

तो चलिए अब इस पोस्ट के पहले भाग को शुरू करते हैं और आपको बताते हैं कि एक संगीत सीखने वाले में क्या-क्या अच्छे गुण होने चाहिए,यानी कि वह कौन सी खास बातें हैं जिनको अपनाकर वह अपने गुरु को ईंमप्रेस कर सकता है और जल्दी से जल्दी संगीत सीख सकता है।वो खास बातें बताने से पहले मैं आप सब को बताना चाहूंगा कि अगर आप ऑनलाइन ही बिना किसी गुरु उस्ताद के सिर्फ अपने मोबाइल लैपटॉप या कंप्यूटर द्वारा अपने घर बैठ कर ही संगीत सीखना चाहते हैं तो आप इस वेबसाइट को फॉलो कर सकते हैं। इस वेबसाइट पर मैंने बहुत सारी ऐसी पोस्ट लिखी है। जिन को पढ़कर आप ऑनलाइन ही सीख सकते हैं और उसके साथ-साथ आप मेरे यूट्यूब चैनल मि. जोलीज़ म्यूजिक क्लासेस को भी फॉलो कर सकते हैं। उस पर भी मैंने इंडियन क्लासिकल और फोक म्यूजिक से रिलेटेड बहुत सारी वीडियो बनाकर अपलोड की हैं जिसको देखकर आप ऑनलाइन ही संगीत सकते हैं। अगर आपको वो वीडियो पसंद आती हैं तो आप मेरे चैनल को सब्सक्राइब भी कर सकते हैं।

नोट:—:–अगर आपको ये पोस्ट पसंद आए और नॉलेजफुल लगे तो इस पोस्ट को वोट, स्पॉट और शेयर जरूर करें (स्टार के निशान को दबाऐं जो पोस्ट की शुरुआत में हैं )

Point No. (1)

संगीत सीखने वाले में सबसे पहला और अच्छा गुण ये होना चाहिए कि उसको गुरु शिष्य परंपरा के बारे में पता होना चाहिए और उसको फोलो भी करना चाहिए। गुरु शिष्य परंपरा आज की नहीं है। ये राजा महाराजाओं के ज़माने से चली आ रही है।गुरु शिष्य परंपरा के तहत एक विद्यार्थी अपने गुरु की पूरी रिस्पेक्ट करता है और उसकी सेवा करता है और उससे शिक्षा ग्रहण करता है। चाहे वह संगीत हो या कोई और शिक्षा हो वह अपने गुरु से प्राप्त करता है। वह अपने गुरु की पूरी रिस्पेक्ट करता है तांकि वोअपने गुरु का दिल जीत सके और गुरु उस पर मेहरबान हो और उसको बहुत अच्छे तरीके से सिखाए।किसी भी गुरुजन उस्ताद से कोई भी हुनर ग्रहण करने का यह सबसे बड़ा मूल मंत्र है। इसलिए किसी भी संगीत सीखने वाले विद्यार्थी को इस मूलमंत्र को जरूर अपनाना चाहिए।

Point No. (2)

किसी भी संगीत सीखने वाले में दूसरा और सबसे अच्छा गुण यह होता है कि उसमें संगीत की प्रति तड़प होनी चाहिए। यानी कि सच्ची लगन होनी चाहिए ,क्योंकि जब आप किसी काम को पूरी लगन के साथ सीखते हैं तो वह काम आपको बहुत आसानी से समझ में आ जाता है और आप उस काम को करने में बड़ी जल्दी कामयाब भी हो जाते हैं।और दोस्तो मैं आपको संगीत के बारे में एक और बात बतऊं कि संगीत एक गंभीर विषय है। इस को सीखने में कुछ टाइम लगता है। कुछ लोग सोचते हैं कि हम संगीत को बहुत जल्दी सीख लेंगे। 1 महीने 2 या 6 महीने में सीख लेंगे। ऐसा कुछ भी नहीं है। संगीत को सही तरीके से सीखने के लिए कम से कम दो-तीन साल का वक्त लगता है। ऐसी बहुत सारी किताबें आपने देखी होगी और यूट्यूब पर वीडियोस भी देखे होंगे, जिनमें बोलते हैं के संगीत को 2 महीने में सीखे 4 महीने में सीखें तो ऐसा कुछ भी नहीं है। आपको संगीत को टाइम देना पड़ता है। उसको लगातार रियाज करना पड़ता है तब जाकर आपको संगीत के बारे में कुछ पता चलता है।

Point No. (3)

संगीत सीखने वाले में तीसरा और अच्छा गुण ये होता है कि उसमें संगीत को ज्यादा से ज्यादा सीखने की तड़प भी होती है और वो संगीत में ज्यादा से ज्यादा एक्सपेरिमेंट भी करता है।उसके मन में हमेशा यही रहता है कि मैं यह भी सीख लूं। वह भी सीख लूं। यह भी गा लुं वह भी बजा लुं और वह जो कुछ भी सीखता है, उसमें एक्सपेरिमेंट करके देखता रहता है। जैसे मान ले उसने कोई अलंकार सीखा है तो वो उसको अलग अलग तरीके से गाने और बजाने की कोशिश करता रहता है।ऐसा करने से उसकी नॉलेज में इंप्रूवमेंट होती है। उसका एक्सपीरियंस बढ़ता है और उसकी फिंगरिग स्पीड भी बढ़ जाती है। यह भी एक संगीत सीखने वाले का बहुत अच्छा गुण है।

Point No. (4)

संगीत सीखने वाले का चौथा गुण यह है कि वह अपने रियाज़ के प्रति पूरा ईमानदार होना चाहिए। चाहे कुछ भी हो जाए एक संगीत सीखने वाले को अपने रियाज़ को रेगुलर करना चाहिए। शुरू में जितना ज़्यादा हो सके उतना ज़्यादा रियाज़ करना चाहिए। बाद में चाहे वह कम भी कर सकता है। एक दो घंटा भी कर सकता है लेकिन शुरू में ज्यादा से ज्यादा रियाज़ करना चाहिए रियाज़ में लापरवाही करने से संगीत सीखने वाले को बहुत नुकसान होता है और ये उसे बाद में पता चलता है।

Point No. (5)

संगीत सीखने वाले का पांचवा गुण यह है कि जो भी कोई संगीत के फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहता है, वह वक्त की पूरी कदर करें क्योंकि अगर आज आप वक्त को बर्बाद करेंगे तो कल वक्त आपको बर्बाद कर देगा तो इसीलिए संगीत सीखने वाले का ज्यादातर ध्यान संगीत सीखने में संगीत सीखने में और अच्छा-अच्छा संगीत सुनने में होना चाहिए क्योंकि यही वह चीज है जो आगे जाकर आपकी लाइफ में काम आती है। क्योंकि अगर आप की अच्छी तैयारी होगी तभी आप एक सक्सेसफुल सिंगर, संगीतकार या इंस्ट्रूमेंट प्लेयर बन पाएंगे।

Point No. (6)

संगीत सीखने वाले का 6 वां अच्छा गुण यह होता है कि वह संगीत की हर बारीकी को बड़ी गहराई से और ध्यान से सीखता है।चाहे वो कोई अलंकार हो राग हो राग की बंदिश हो तान हो गीत हो भजन हो, गयज़ल हो या फिर खटका, मुर्की,मींड,कोई भी ऐसी संगीत की बारीकि हो उसको बड़े ध्यान से सीखता है। सीखता ही नहीं बल्कि उसको अपने गायन और वादन में इस्तेमाल भी करता है और उसके साथ-साथ अपनी स्टेज परफारमेंस पमें भी शामिल करता है और अपने गायन को और अपने वादन को और भी बेहतर बनाता है और संगीत सुनने वालों का बहुत अच्छे तरीके से एंटरटेन करता है।

दोस्तो अगर आपको पता नहीं है कि एक संगीत सीखने वाले के लिए कौन-कौन सी वो बारीकियां है जो सीखनी ज़रूरी हैं तो उसके तो उस विषय पर मैंने इसी वेबसाइट पर दो पोस्ट भी लिखी हुई हैं, और अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो भी बनाई हुई है। आप अधिक जानकारी के लिए आप अधिक जानकारी के लिए वह पोस्टें भी पढ़ सकते हैं और वह वीडियो भी देख सकते हैं।

Point No. (7)

संगीत सीखने वाले का 7वां अच्छा गुण यह होता है कि वह अपने आस-पड़ोस में हो रहे कार्यक्रमों में भाग लेता है। उनको अटेंड करता है और उन प्रोग्रामों में जो गायक या वादक गा रहे होते है या बजा रहे होते हैं उनको ध्यान से देखता है और उनसे मेल मिलाप करके उनसे भी कुछ ना कुछ ज़रूर सीखता है और अपने पास भी मैट्र को तैयार रखता है। किसी भी डायरी या रजिस्टर में गीत, ग़ज़ल भजन जो भी कुछ उसके गाना होता है, उसको लिख कर रखता है तांकि वो उसको आगे प्रोग्रामों में आसानी पड़ कर गा सके,

Point No. (8)

संगीत सीखने वाले का आठवां अच्छा गुण यह होता है कि वह अपने सभी सीनियर कलाकारों की पूरी रिस्पेक्ट करता है और उनसे भी कुछ न कुछ सीखता है और अपने जो बराबर वाले बिगनर होते हैं, उनसे कभी जैलसी नहीं करता है।

Point No. (9)

संगीत सीखने वाले का 9वां गुण यह है कि वह संगीत को ग्रामर के साथ सीखता है सीखने के साथ-साथ वो जो कुछ भी सीखता है उसको अपनी डायरी या रजिस्टर में नोट भी करता है तांकि वह भविष्य में उसकी रिवीज़न कर सके और भविष्य में किसी और को सिखा भी सके।

Point No. (10)

संगीत सीखने वाले का अच्छा अगला गुण यह होता है। वह किसी भी बुरी लत और अवगुण से दूर रहता है।जैसे कि नशा हुआ आवारा घूमना हुआ मारपीट करना, लड़ाई झगड़ा करना संगीत सीखने वाले का एक ही मकसद होना चाहिए कि मैं वह अपना रियाज़ ईमानदारी से करे और संगीत सीखे।क्योंकि अगर रियाज़ ही वह ऐसी चीज़ है जो आपको एक महान सिंगर, संगीतकार या ईंस्टूमेंट प्लेयर बनाता है और आप संगीत के फील्ड में कामयाब होते हैं।तो संगीत सीखने वालों को ऐसी बुरी आदतों से दूर रहना चाहिए और अपना पूरा फोकस संगीत पर रखना चाहिए तांकि वह आगे जाकर कामयाब हो सके।

तो दोस्तों यह थे एक संगीत सीखने वाले के कुछ अच्छे गुण अगर आप भी संगीत सीख रहे हैं या संगीत सीखना चाहते हैं तो इन गुणों को अपनाकर आप भी बहुत आसानी से और जल्दी से जल्दी संगीत सीख सकते हैं। इसके अलावा इसके इलावा अगर आप सिंगिंग सीख रहे हैं या कोई इंसटरूमेंट प्ले करना सीख रहे हैं तो एक गायक और वादक में क्या-क्या अच्छे गुण होने चाहिए। उस विषय पर भी मैंने एक पोस्ट लिखी हुई है और एक वीडियो में बनाई हुई है। अगर आप चाहे तो मेरे यूट्यूब चैनल में मि़ जोलीज म्यूजिक क्लासेस पर भी विजिट करके उस वीडियो को देख सकते हैं और इसी वेबसाइट पर उस पोस्ट को भी पढ़ सकते हैं।इससे अगली पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा कि एक संगीत सिखाने वाले म्यूजिक टीचर में क्या-क्या अच्छे गुण होने चाहिए। वह पोस्ट भी काफी नॉलेजफुल होगी। अगर संगीत सीखने वाले उस पोस्ट को पढ़ेंगे तो उनको काफी नॉलेज मिलेगी और उनको ये बात डिसाइड करने में आसानी हो जाएगी कि हमें संगीत सीखने के लिए कैसा गुरु बनाना चाहिए।

मोट:—दोस्तों अगर आपका इंडियन क्लासिकल म्यूजिक से रिलेटेड कोई भी सवाल हो या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके मुझे बता सकते हैं। और अगर आप किसी खास विषय पर कोई पोस्ट पढ़ना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि मैं उस विषय पर पोस्ट लिखूं या फिर आप हरमोनियम या कीबोर्ड पर किसी खास गीत,ग़ज़ल,भजन या कवाली को गाना और बजाना सीखना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि मैं उसकी नोटेशन बनाकर वीडियो बनाऊूं तो आप उसके बारे में भी इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके मुझे बता सकते हैं। मैं उस विषय पर पोस्ट लिखने की और वीडियो बनाने की पूरी कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!