Top 10 Best Stage Performance Tips for all Singers and Musicians of all this World

Spread the love

Rate this post

 

 
 
Top 10 Best Stage Performance Tips Forall  Singers and Musicians of all this World 
 
🙏🎹🇦🇮🎶🇱🇷🇰🇷🎷🇬🇧🎼🇨🇦🎵🇲🇾🎻🇭🇲🎹🇲🇾🎷🇳🇪🙏
 
 
🎹🎤🎧Friends, the success of a singer, musician, or instrument player is decided on two things. First is his Riyaz which he does sitting at his home and second is his stage performance which he gives in front of people. Known from these two things, that how successful a singer musician instrument player will be and how much money and fame he will get, friends, whatever you do Riaz (Music Practice) good or bad, or do more or less, no one comes to see you,  But the stage performance you give has a very deep impact on the audience. If you give good stage performance then it is a very good opportunity for you to become a successful artist. On the other hand, if your stage performance is not good, then it is a minus point for you and it can also have a bad effect on your music career. So whenever you give stage performance, give it very well and with full enthusiasm. Give, so that the program presented by you becomes a hit,And all the audience can enjoy it. I am not a big artist in friends. Still, whatever little music I have learned from my masters. Based on that, I am going to tell you some stage performance tips, if you adopt these tips while giving from stage performance, then you will benefit a lot. So now let’s talk about these tips one by one in detail.
 
  Note :- Maybe some people are very old in the field of music and are programming for a long time, then it may also be that they know about these tips but those who are new are just now in which to start programs. If done, then the tips will prove to be very beneficial for them,
 
 
   (1) First of all, if you are a singer and you are going to perform somewhere often with your own musical group or band, then it does not matter. Because the singing style of your group knows you very well what kind of you singer, What is scale your singing mostly,classical or folk, they will have no problem singing or playing with you. But if you go to perform with a new group, you may find it difficult to perform. There may be some problem, because sometimes the singer’s synergy with the new group does not fit right. So you try to reach the before place where the program is going to be one or half hours before. And whatever music and course performance with you.so You tell them about the style of your song, about the scale and whatever you will sing like classical or folk you must discuss with the musical group about this things, So you can relaxed performance with that batch.
 
 
 (2) If you are an artist or are going to become an artist, then you are known the value of the stage, then you must be well aware that what is the value in the heart of an artist of the stage? Climb on the stage, because the status of the stage for an artist is as much as the status of God for a priest. An artist knows as much as money, fame, success and respect. He knows only because of the stage. Therefore, it is the duty of an artist to give full respect to the stage.
 
    (3)Whatever an artist achieves anything fame, success,  and respect. He achieves only by of the stage. Therefore, it is the duty of an artist to give full respect to the stage.
 
 (4 ) In the beginning of the program, sing a couple of song andreligious songs  in the name of God so that God’s blessings are on you and your program becomes successful.and
 While giving stage performance, keep in mind that what kind of  songs and hymns like to listen to the audience there. You sing there similar songs or bhajans so that the audience stays connected with you and your program becomes a success.
 
   (5) One more thing to keep in mind while giving the performence that along with singing, keep telling jokes and funny moments to the audience in between, so that the audience does not get bored and their interest in your program is well built.and full enjoy of your program,
 
   (6) Whenever you program, maintain engagement with your audience. If someone asks you something, then you answer it with great love and the audience does not feel that this artist is arrogant or is taking pride in his knowledge.
 
   (7) Friends, if you are an instrument player, such as you play an instrument like keyboard or a rhythmic instrument, then you should always keep one thing in mind while performing, so that the new singer does not have any problem in singing. Lose very well and easily if you are a new singer then do not show much artistry. He gets confused by it.
 
   (8) If you are a keyboard player or you are a rhythm player and the singer performing with you has sung some out of scale or sung off the beat, don’t tell him directly, it may make him feel bad and  It is also not good to tell this in public. You tell him with a gesture that he has been wrong.
 
 
    (9) And whenever you perform, whether you are a singer or an instrument player, there should be no tension on your face. Audience should always see a slight smile on your face because they come to see and hear you because you  Entertain them. The more happily you sing, the more the audience’s engagement will be with you and the more will be more interested in your program.
 
 
  (10 ) Whenever you go to program, keep these things in mind. While selecting the pitch before performing, keep in mind that you do not select too high pitch, it can explode your voice and you may  Do not be able to sing on that pitch, and at that time you do not become a laughing stock, while singing, you should take full care of the sweetness and feeling in the song along with the rhythm. Never go too loud or screaming and  Never sing with your mouth high, never sing monotonously, and don’t sing with trembling hands and feet, and don’t sing in a trembling voice, and don’t sing in fear, in tone and rhythm, and don’t sing even with your eyes closed. Don’t let the sound of cc or phuff appear from your mouth while singing, don’t sing too quickly without being confident, don’t sing even with your throat inflated, don’t sing even with your nose,Apart from all these things, there should be some other good qualities in a singer and instrumentalist, must read this post to know what they are.
 
 
 
     
 A request :- Maybe whoever will read this post, apart from the beginners, there are also music worthy people i.e. my seniors, then if you also know about any such tips, then you must comment below this post. Tell me, I will also add those tips to this post so that more and more music learners can get knowledge by reading this post, and they can be good artist well, thank you, Kulwinder Jolly (Mr. Jolly)
 
 

Mistakes

Note: – There may be mistakes in translation, so if you do not understand anything, then comment me (English, Hindi or Punjabi), no matter which country you are from, I will try my best to answer your comment, and in future I will try to improve these mistakes too — Kulwinder Jolly {Mr.Jolly}

 
 
You can also Visit and Subscribe to My YouTube channelMr.Jollys Music Classes to See Knowledgeful Videos of Theory and Paractical related to Music,
 
 
 

 
 

इस पूरी दुनिया के सभी गायकों और संगीतकारों के लिए शीर्ष 10 सर्वश्रेष्ठ स्टेज प्रदर्शन युक्तियाँ

 
🎹🇦🇮🎶🇱🇷🇰🇷🎷🇬🇧🎼🇨🇦🎵🇲🇾🎻🇭🇲🎹🇲🇾🎷🇳🇪
 
 
🎹🎤🎺🎶दोस्तो एक सिंगर,संगीतकार,या ईंस्टूमेंट प्लेयर की कामयाबी दो चीजों पर आधारित होती है।पहला तो उसका रियाज जो वो अपने घर पर बैठकर करता है और दूसरा होती है उसकी स्टेज परफॉर्मेस जो वो लोगों के सामने देता है।इन्हीं दो चीजों से पता लगता है कि कोई सिंगर संगीतकार इंस्ट्रूमेंट प्लेयर कितना कामयाब होगा और उसको कितना नाम पैसा और शोहरत मिलेगीदोस्तों आप लोग जो भी रियाज करते हो, अच्छा करते हो या बुरा करते हो, काम करते हो या ज्यादा करते हो, आपको कोई नहीं देखने आता है,लेकिन आप जो स्टेज परफॉर्मेस देते हो उसका श्रोताओं के ऊपर बहुत गहरा असर पड़ता है।अगर आप अच्छी स्टेज परफॉर्मेस देते हो तो यह आपके लिए सफल कलाकार बनने का बहुत अच्छा अवसर होता है। वहीं दूसरी तरफ अगर आपकी स्टेज परफॉर्मेस बढ़िया ना हो तो यह आपके लिए माइनस पॉइंट होता है और इसका आप के संगीत कैरियर पर बुरा असर भी पड़ सकता है।इसलिए आप जब भी स्टेज परफॉर्मेंस दें तो बहुत बढ़िया तरीके से दें और पूरे जोश के साथ दें,ताकि आपके द्वारा पेश किया हुआ प्रोग्राम हिट हो जाए,और सभी श्रोता उस का आनंद ले सकें।दोस्तों में है कोई बहुत बड़ा आर्टिस्ट नहीं हूं। फिर भी मैंने जो अपने गुरुजन उस्तादों से जो थोड़ा बहुत संगीत सीखा है। उसके आधार पर मैं आपको कुछ स्टेज परफॉर्मस के टिप्स बताने जा रहा हूँ,अगर आप स्टेज परफॉर्म से देते हुए इन टिप्स को अपनाते हैं तो आपको बहुत ज्यादा फायदा होगा।तो चलिए अब इन टिप्स के बारे में एक-एक करके विस्तार से बात करते हैं:–
 
 
नोट :–हो सकता है कुछ लोग म्यूजिक के फील्ड में बहुत पुराने हों और काफी देर से प्रोग्राम कर रहे हो तो यह भी हो सकता है कि उनको इन टिप्स के बारे में पता हो लेकिन जो नए हैं अभी अभी जिनमें प्रोग्राम शुरू करने शुरू किए हैं तो उनके लिए टिप्स काफी फायदेमंद साबित होंगे
 
(1)सबसे पहली बात, अगर आप एक सिंगर है और अपने ही म्यूजिकल ग्रुप या बैंड के साथ कहीं परफॉर्म करने जा रहे हैं तो कोई बात नहीं है।क्योंकि आपके जो ग्रुप के मयुजीसन होते हैं वह आपको भली भांति जानते हैं कि आप कैसे गाते हैं किस स्केल पर गाते हैं, क्लासिकल गाते हैं या फोक गाते हैं,तो उनको आपके साथ गाने या बजाने में कोई दिक्कत नहीं आती है।पर अगर आप किसी नए ग्रुप के साथ परफॉर्म करने जाएं तो हो सकता है कि आपको परफॉर्म करने में कुछ दिक्कत आए,क्योंकि कई बार नए ग्रुप के साथ सिंगर का तालमेल सही नहीं बैठता है।इसलिए आप कोशिश करें जहां पर प्रोग्राम होने वाला हो वहां पर आप एक दो घंटा पहले ही पहुंच जाए।और आपके साथ जो भी मजिसन और कोर्स वाले परफॉर्म करने वाले हैं उनको अपने गाने के अंदाज़ के बारे में स्केल के बारे में और आप क्लासिकल या फोक जैसा भी जो कुछ भी आप गाएंगे उसके बारे में जरूर बता दें और उन से डिस्कस कर ले।तांति आप उस बैच के साथ ही रिलैक्स होकर परफॉर्म कर सके।
 
(2)अगर आप एक आर्टिस्ट हो या आर्टिस्ट बनने जा रहे हो तो आप स्टेज की वैल्यू हो तो भली-भांति जानते होंगे कि स्टेज की एक आर्टिस्ट के दिल में क्या वैल्यू होती है?इसलिए आप जब भी स्टेज पर चढ़े तो माथा टेककर ही स्टेज पर चढ़े,क्योंकि एक आर्टिस्ट के लिए स्टेज का दर्जा उतना ही होता है जितना एक पुजारी के लिए भगवान का दर्जा होता है।एक आर्टिस्ट जितना भी नाम पैसा शौहरत, कामयाबी और इज्जत पता है। वह स्टेज की वजह से ही पता है। इसलिए एक कलाकार का ये फर्ज बनता है कि वह स्टेज की पूरी कद्र करें।
 
 
(3)एक आर्टिस्ट जितना भी नाम पैसा शौहरत, कामयाबी और इज्जत पता है। वह स्टेज की वजह से ही पता है। इसलिए एक कलाकार का ये फर्ज बनता है कि वह स्टेज की पूरी कद्र करें।
 
 
(4)प्रोग्राम की शुरुआत में एक दो वंदना भगवान के नाम की जरूर गाएं तांकि आप पर भगवान की कृपया हो और आपका प्रोग्राम सफल हो जाए।
 
 
(5) स्टेज परफॉर्मेस देते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि वहां की ऑडिअंस से किस तरह के गाने और भजन सुनना पसंद करती है। आप उसी तरह के गीत या भजन वहां पर गएं ताकि ऑडियंस आपके साथ जुड़ी रहे और आपका प्रोग्राम सफल हो जाए और परफॉर्मर्स देते बात एक बात का और ध्यान रखें कि सिंगिंग के साथ-साथ बीच-बीच में ऑडियंस को हंसी मजाक के चुटकुले और हंसी मजाक के किस्से भी सुनाते रहें तांकि ऑडिअंस बोर ना हो और उसकी दिलचस्पी आपके प्रोग्राम में अच्छी तरह बनी रहे।,
 
 
(6) आप जब भी प्रोग्राम करें अपने श्रोताओं से अंगेजमेंट बनाकर रखें। अगर कोई आपसे कोई कुछ पूछता है तो आप उसका बड़े प्यार से जवाब दें और श्रोताओं को यह न लगे कि यह कलाकार घमंडी है या अपने ज्ञान का अभिमान कर रहा है।
 
(7) दोस्तो अगर आप एक इंस्ट्रूमेंट प्लेयर है जैसे कि आप कोई इंस्ट्रूमेंट बजाते हैं कीबोर्ड या फिर कोई ताल वाला इंस्ट्रूमेंट बजाते हैं तो आप परफोरम करते वक्त एक बात का हमेशा ध्यान रखें, जिससे नए सिंगर को गाने में कोई दिक्कत ना हो।उससे बहुत अच्छे तरीके से और आसानी गवाएं अगर नया सिंगर हो तो ज्यादा कलाकारी ना दिखाएं। उससे वह कंफ्यूज हो जाता है।
 
 
(8) अगर आप एक कीबोर्ड प्लेयर हैं या आप एक रिदम पलेयर हैं और आपके साथ परफॉर्म कर रहे सिंगर ने कुछ औट ऑफ स्केल गा दिया है या और आफ बीट गा दिया तो आप उसको डायरेकटली मत बताएं, उससे उसको बुरा लग सकता है और पब्लिक के सामने ऐसा बताना भी अच्छा नहीं होता। आप उसको इशारे से बता दीजिए कि वह गलत रहा है।
 
 
(9) और आप जब भी परफॉर्म करे चाहे आप सिंगर हो या इंस्ट्रूमेंट प्लेयर हो तो आपके चेहरे पर कोई टेंशन नहीं होनी चाहिए।श्रोताओं को हमेशा आपके चेहरे पर हल्की मुस्कान देखनी चाहिए क्योंकि वह आपको देखने और सुनने के लिए इसलिए आते हैं कि आप उनको एंटरटेनमेंट करें।आप जितना ज्यादा खुश होकर गाएंगे श्रोताओं की इंगेजमेंट आपसे इतनी ज्यादा बनेगी और आपके प्रोग्राम में दिलचस्पी भी उतनी ही ज्यादा लेंगे।
 
 
(10) जो लोग पुराने सिंगर है, कईं सालों से स्टेज परफॉर्म करते आ रहे हैं उनको तो इन बातों का पता होगा लेकिन जो नए हैं अभी-अभी जो परफॉर्मर्स देना शुरू करेंगे उनके लिए तो मैं कुछ बातें बता रहा हूं। जब भी आप प्रोग्राम करने जाएं तो इन बातों का पूरा ध्यान रखें।परफॉर्म करने से पहले आप पिच का सिलेक्शन करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि आप ज्यादा हाई पिच सिलेक्ट ना करें, उससे आपकी आवाज फट सकती है और हो सकता है कि आप उस पिच पर ना गा पाएं, और उस वक्त आप हंसी के पात्र ना बन जाएं, गाना गाते वक्त आप सुर ताल के साथ साथ गाने में मिठास और फीलिंग का भी पूरा ध्यान रखें।कभी भी ज्यादा मुंह खोलकर या चिल्ला चिल्ला कर ना गएं और ना ही कभी ज्यादा मुंह उच्चा करके गाऐं,कभी भी नीरस ना गाऐं, और ना ही हाथ पैर हिलाकर गांए और ना कांपती हुई आवाज में गाऐं और ना कर भी डर डर के गाऐं,स्वर और ताल में गाऐं और आंखें बंद करके भी ना गाऐं,गाते वक्त मुंह से सी सी या फ फ की आवाज़ प्रकट ना होने दें,आत्मविश्वास रहित होकर जल्दी-जल्दी ना गाऐं, गले की नशें फुलाकर भी ना गाऐं, नाक से भी ना गाएं,इन सब बातों के इलावा एक गायक और वादक में कुछ और भी अच्छे गुण होने चाहिए और वो क्या-क्या होते हैं ये जानने के लिए ये वाली पोस्ट ज़रूर पढ़ें
 
 
 
एक निवेदन :–हो सकता है जो जो-भी इस पोस्ट को पढ़ें उनमें बिगिनर के इलावा संगीत के गुणी व्यक्ति यानि मेरे सीनियर भी हों तो अगर आपको भी ऐसी किसी टिप्स के बारे में पता हो तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके ज़रूर बताएं मैं उस टिप्स को भी इस पोस्ट में एड कर दूँगा ताकि इस पोस्ट को पढ़ कर ज़्यादा से ज़्यादा संगीत सीखने वालों को ज्ञान मिल सके, और वो एक सफल कलाकार बन  सके,धन्यवाद, कुलविंदर जोली ( मि. जोली )
 
 

 

 

Click on the Image of your favourite and Best Quality instrument to purchase

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

https://bit.ly/31Mky5i

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!