How to Sing Smoothly on High Pitches? or How to Sing Easily on High Notes ?

How to Sing Smoothly on High Pitches? or How to Sing Easily on High Notes ?

Spread the love

Rate this post

🙏🎶🇲🇾🎵🇨🇦🎤🇱🇷🎹🇬🇧🎻🇬🇧🎤🇦🇮🎷🇱🇷🎶🇳🇪🙏

<

🎹🎶🎤 Friends, if you are learning music. If you are at the beginner level in music, then you should read this post completely and carefully because in this post I am going to solve one of your problems which often troubles you, because this problem is such that every singer faces it. This is when he is also at the beginner level. In today’s time, all the successful singers, they must have faced this problem and that problem is that when you are at the beginner level, you are not able to sing in loud voices. And this problem is for every music learner. Happens with beginners. The reason for this is that when you are at the beginning level, your throat is not prepared for singing properly due to which you feel more loud or you get tired quickly and your voice also does not reach there. As far as you want to sing. You are able to use only the swaras (Notes) up to the maximum of the Higher octave, the first black, the second black, the third black, but there are some songs like Punjabi songs, Bhojpuri songs, these songs are almost of Higher octaves. 4th Black 5th black or above are also sung. There is a technique to sing on high and loud voices. But beginners do not know about this technique, so whenever they start singing on high voices, their voice does not reach there, or their vocals are not correct. or their voice starts cracking and they get tired too quickly. In today’s post, I am going to tell you five such tips, after knowing which you can easily on all the notes of all the octaves from bottom to top. I will be able to sing from this topic, friends, I have written a post on a similar topic related to this topic and a video has also been made. If you have not read that post yet and have not seen the video, then you should also read that post and watch that video as well. You will get a lot of knowledge.
And what are those tips, let us now tell you one by one.

Read More:–How to learn music for free, without Fess, without any Music Teacher?

⭐⭐⭐⭐⭐

Note:–If you like this post and find it knowledgeable, then please Vote, Support and Share this post.
(Press the star symbol at the beginning of the post.)

Tips No: 1

Friends, in order to sing easily on high notes, first of all, you should practice the notes of the lowest octave ( Mandra or Kharaj Saptak), for as long as you can, now practice the notes of Mandra i.e. Kharaj Saptak,( lowest octave) you start In the beginning, try that the fourth black of the Mandra Saptak lowest octave is able to put the swaras (Notes) up to the third black, when you will be able to put that Notes, then after that you try to put the notes of the second black and the first, when you do this riyaaz (Music Practice or Singing Practice) If you do, you will have a sore throat, but you do not need to panic, it happens to everyone in the beginning, when you do it for a few days, your throat will be ready, after that this soreness will stop and you can easily go downstairs. You will be able to practice the notes. You will have the advantage of doing this Riyaz (Music Practice) that when you do this Riyaz for a few days, you will be able to apply every notes of every octave from bottom to top very easily. If you do this Riyaz for a few days, then you will be able to easily apply every notes of every octave from the bottom to the top.
Read More:–Benefits of Riyaz (Music Practice) and Best Ways.

Tips No. 2

After that you do the Practice of the S (C#) note of the middle octave, you mix the sound with the sound for as long as possible, this will strengthen your stamina, after that you now practice all the notes of the middle octave. You can also sing and play Alankar (Musical Ornaments) in that Riyaz (Music Practice). If you do not know much about ornaments, then I have written 2-3 posts on this subject and have also made videos. You can read that post and watch the video for more details.

Tips No. 3

After that, you Practice the notes of both the lower and the middle octave together, when you do the notes of these two octaves, then your stamina will also increase and your singing and playing will also improve,

Read More:–Top 10 ways to do Riyaz (Music Practice)

Tips No:(4)

And the 4th tips is that you do riyaaz by mixing the notes of the middle and the higher octave, as if you take the note of the 3rd black middle octave and you do riyaaz as far as your throat goes up. And after that you do the fourth black fifth black first white of the middle octave i.e. pure ni with all these notes,
Read More:–How is a song made? Process from Writing to Recording

Tips No:(5)

The 5th and last tips is that you should Practice the notes of the highest octave one by one. As far as your throat goes comfortably, try to sing as far as you can comfortably, and after that you sing some small song, ghazal, bhajan, qawwali on the notes of the highest octave and see that Where does your voice go? If you continue to Practice like this for a few days, then your voice will start reaching very high notes. Friends, apart from these ways of doing Riyaz, there are some other ways to do Riyaz. I have also written 2 posts and made 2 videos on that subject. If you want please visit my youtube channel Mr.jollys Music classes You can watch that video by doing video and also read those posts on this website, which will give you knowledge about many ways to do Riyaz and your singing and playing will improve a lot and you will be a good singer, Musicians will be able to become instrument players,

You can also Visit and Subscribe to My YouTube channel Mr.jolly’s Music Classes to See Knowledgeful Videos of Theory and Practical related to Music,

Note:—-You can also follow me on my podcast channels to learn and understand music more easily, where I upload audio episodes related to music. You will find links to both in the description of any video on my YouTube channel ‘Mr. Jolly’s Music Classes

Note :— Friends, if you have any question related to Indian Classical Music or you want to give any suggestion, then you can tell me by commenting below this post. And if you want to read a post on a particular topic and you want me to write a post on that topic or else you want to learn to sing and play a particular song, Ghazal, Bhajan or Qavali on Harmonium or Keyboard and you want If I make a video by making its notation, then you can also tell me about it by commenting below this post. I will try my best to write post and make video on that topic.


🙏🎶🇲🇾🎵🇨🇦🎤🇱🇷🎹🇬🇧🎻🇬🇧🎤🇦🇮🎷🇱🇷🎶🇳🇪🙏

उंच्चे सवरों पर आसानी से कैसे गाएं? या उंचे स्केल में आसानी से कैसे गाएं?

🎹🎶🎤 दोस्तों अगर आप संगीत सीख रहे हैं। आप संगीत में बिगनर लेवल पर है तो आप इस पोस्ट को पूरा और ध्यान से पढ़िए गा क्योंकि इस पोस्ट में आपकी एक ऐसी समस्या का हल करने वाला हूं जो आपको अक्सर परेशान करती रहती है, क्योंकि ये समस्या ऐसी है इसको हर एक सिंगर फेस करता है जब वह भी बिगनर लेवल पर होता है। आज के टाइम में क*दजितने भी कामयाब सिंगर है, उन्होंने इस समस्या को जरूर फेस किया होगा और वह समस्या यह है कि जब आप बिगनर लेवल पर होते हैं तो आप ऊंचे स्वरों पर नहीं गा पाते हैं।और ये समस्या हर संगीत सीखने वाले बिगनर के साथ होती है। उसका कारण यह है कि जब आप बिगिनिंग लेवल पर होते हो तो आपका गला अच्छे तरीके से गायन के लिए तैयार नहीं होता है जिसके कारण आपका ज़्यादा जो़र लगता है या आप जल्दी थक जाते हैं और और आपकी आवाज भी वहां तक नहीं पहुंच पाती है। जहां तक आप गाना चाहते हैं।आप ज़्यादा से ज़्यादा तार सप्तक पहली काली, दूसरी काली, तीसरी काली तक के स्वरों को ही लगा पाते हैं, लेकिन कुछ गीत ऐसे होते हैं जैसे के पंजाबी गीत हुए भोजपुरी गीत हुए ये गीत तकरीबन तार सप्तक की चौथी काली, पांचवी काली या इससे उपर भी गाए जाते हैं। ऊंचे से ऊंचे स्वरो पर गाने के लिए एक तकनीक होती है।पर बिगनर लोगों को इस तकनीक के बारे में पता नहीं होता इसलिए वो जब भी ऊंचे स्वरों पर गाने लगते हैं तो उनकी आवाज वहां तक नहीं पहुंच पाती है, या उनके सवर सही से नहीं लगते हैं या फिर उनकी आवाज फटने लग जाती है और वह थक भी जल्दी जाते हैं।आज की इस पोस्ट में मैं आपको ऐसे पांच टिपस बताने वाला हूँ जिनको जानने के बाद आप नीचे से लेकर ऊपर तक के सभी सपतकों के सभी स्वरों पर आसानी से गा पाऐंगे,दोस्तो इस टॉपिक से रिलेटेड मिलते जुलते टॉपिक पर मैंने पहले भी एक पोस्ट लिखी हुई है और एक वीडियो भी बनाई हुई है। अगर आपने अभी तक वो पोस्ट नहीं पड़ी है और वीडियो नहीं देखी है तो आप उस पोस्ट को भी पढ़ ले और उस वीडियो को भी देख ले। आपको काफी नॉलेज मिलेगी।
और वो टिपस कौन-कौन से हैं, चलिए अब एक-एक करके आपको बताते हैं:–

⭐⭐⭐⭐⭐

👍 नोट:–अगर आपको ये पोस्ट पसंद आए और नॉलेजफुल लगे तो इस पोस्ट को वोट, स्पॉट और शेयर जरूर करें (स्टार के निशान को दबाऐं जो पोस्ट की शुरुआत में हैं)

टिपस नं : 1

दोस्तो उंच्चे स्वरों पर आसानी से गाने के लिए सबसे पहले आप सबसे नीचे वाले सप्तक मंद्र यानी कि खरज सप्तक के स्वरों का रियाज़ कीजिए,आप जितना अधिक हो सके उतनी ज्यादा देर तक अब मंद्र यानी की खरज सप्तक के स्वरों का रियाज़ करिए,आप शुरू शुरू में ये कोशिश करें कि मंद्र सप्तक की चौथी काली तीसरी काली तक के स्वरों को लगा पाएं, जब आप वो स्वर लगाने में सफल हो जाएंगे तो उसके बाद आप कोशिश करें कि दूसरी काली और पहली के स्वरों को लगा पाएं, जब आप ये रियाज़ करेंगे तो आपके गले में खराश होगी, लेकिन आपको घबराने की जरूरत नहीं है ये शुरू शुरू में हर किसी के साथ होता है जब आप कुछ दिन कर्ंगे तो आपका गला तैयार हो जाएगा उसके बाद ये खराश होनी बंद हो जाएगी और आप आसानी से नीचे के स्वरों का रियाज़ कर पाएंगे। इस रियाज़ को करने का आपको ये फायदा होगा कि जब आप कुछ दिन ये रियाज़ कर लेंगे तो आप नीचे से लेकर ऊपर तक के हर सप्तक के हर स्वर को बड़ी आसानी से लगा पाएंगे।इस रियाज़ को करने का आपको ये फायदा होगा कि जब आप कुछ दिन ये रियाज़ कर लेंगे तो आप नीचे से लेकर ऊपर तक के हर सप्तक के हर सवर को बड़ी आसानी से लगा पाएंगे।

टिपस नं : 2

उसके बाद आप मध्य सप्तक के स स्वर का रियाज़ करिए, आप जितनी ज्यादा देर तक हो सके स स्वर से आवाज़ मिलाइए, इससे आपका स्टैमिना मजबूत होगा,उसके बाद आप अब मध्य सप्तक के सभी स्वरों का रियाज़ कीजिए। उस रियाज़ में आप अलंकार भी गा और बजा सकते हैं। अगर आपको अलंकार ज्यादा नहीं आते हैं तो इस विषय पर भी मैंने 2-3 पोस्ट लिखी हुई है और वीडियो भी बनाई हुई है। आप अधिक जानकारी के लिए वह पोस्ट पढ़ सकते हैं और वीडियो देख सकते हैं।

टिपस नं : 3

उसके बाद आप मंद्र और मध्य दोनों सप्तक के स्वरों का एक साथ रियाज़ कीजिए,आप जब इन दोनों सप्तक के स्वरों का रियाज़ करेंगे तो आप का स्टैमिना भी बढ़ेगा और आपकी गायकी और बजाने में भी सुधार आएगा,

टिपस नं :(4)

और चौथा टिप्स ये है कि आप मध्य और तार सप्तक के स्वरों को मिलाकर दोनों का रियाज कीजिए, जैसे कि आप तीसरी काली मध्य सप्तक का स्वर ले लीजिए और ऊपर जहां तक आपका गला जाए आप वहां तक रियाज़ कीजिए। और उसके बाद आप मध्य सप्तक की चौथी काली पांचवी काली पहला सफेद यानी शुद्ध नी इन सब स्वरों से रियाज़ कीजिए,

टिपस नं :(5)

पांचवां और आखिरी टिप्स यह है कि आप तार सप्तक के स्वरों का एक-एक करके रियास कीजिए। आपका गला जहां तक आराम से जाए, आप जहां तक आराम से गा सकें, उस सवर तक रियाज़ करने की कोशिश कीजिए और उसके बाद आप तार सप्तक के स्वरों पर कोई छोटा-मोटा गीत, ग़ज़ल, भजन, कव्वाली कुछ ना कुछ गाकर देखें कि आपकी आवाज़ कहां तक जाती है। आप ऐसे ही कुछ दिन लगातार अभ्यास करते चले जाएंगे तो आपकी आवाज़ ऊपर काफी उंच्चे स्वरों तक पहुंचने लग जाएगी। दोस्तो रियाज़ करने के इन तरीकों इलावा रियाज़ करने के कुछ और भी तरीके होते हैं। उस विषय पर मैंने 2 पोस्ट भी लिखी हुई है और 2 वीडियो बनाई हुई है। अगर आप चाहेें तो मेरे यूट्यूब चैनल मि. डोली म्यूजिक क्लासस पर वीडियो करके उस वीडियो को देख सकते हैं और इसी वेबसाइट पर उन पोस्ट को भी पढ़ सकते हैं जिससे आपको रियाज़ करने के कई तरीकों के बारे में नौलज मिलेगी और आपकी गायकी और वादन में काफी सुधार होगा और आप एक अच्छे सिंगर, संगीतकार इंस्ट्रूमेंट प्लेयर बन सकेंगे,

नोट:—दोस्तो अगर आपका इंडियन क्लासिकल म्यूजिक से रिलेटेड कोई भी सवाल हो या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके मुझे बता सकते हैं। और अगर आप किसी खास विषय पर कोई पोस्ट पढ़ना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि मैं उस विषय पर पोस्ट लिखूं या फिर आप हरमोनियम या कीबोर्ड पर किसी खास गीत,ग़ज़ल,भजन या कवाली को गाना और बजाना सीखना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि मैं उसकी नोटेशन बनाकर वीडियो बनाऊूं तो आप उसके बारे में भी इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके मुझे बता सकते हैं। मैं उस विषय पर पोस्ट लिखने की और वीडियो बनाने की पूरी कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!