How to make notation of any song or How to find notation of any song

Spread the love

Rate this post
  🙏🎹 Friends, whenever someone starts learning music, and after learning Alankar for a few days, one thing definitely comes in his mind that I also watch sing and play some song, ghazal or bhajan by singing or playing it and anyway someone learns music, that’s why he learns that  He can sing or play any song, ghazal, or bhajan, but in the beginning, a music beginner is not well prepared on the harmonium to sing or play any song in a proper way, so whenever he does any  He often becomes disinterested when he sings or plays a song. And even after trying again and again, he gets frustrated because of not singing a proper song and not playing it. But there is a solution to this thing. If you adopt that method, then you will be able to sing any song in proper tone. And that remedy is Natation. So those who are at advanced level in music know how to make notation but those who are beginners do not know how to make notation.  In today’s post I will try to teach you to make notation, the most important thing to make notation  That is Taal (Rhythm) if you want to make notation of any song, Ghazal or Bhajan, then it is very important for you to have proper knowledge of Taal because you must have often seen that any notation has a count written on it. From that count, it is known in which taal that notation is, it is very important for you not to know more or at least the main main taals (Rhythms) of Indian classical music,
Note:–You can also Visit and Subscribe to My YouTube channel Mr.Jollys Music Classes to See Knowledgeful Videos of Theory and Practical related to Music,

        How to Make Notation

  Whenever you make the notation of a song, bhajan or ghazal, before that see in which taal (Rhythm) it is, most of the songs are in Keherwa or Dadra Taal, Keherwa Taal is of 8 volumes and Dadra Taal is of 6 volumes  is.
  (1) Lyrics of Keherwa Taal :- Dha ge na ti na ka dhi na
  (2) Lyrics of Dadra Tal :- Dha dhi na, Dha tin na
  There is also double and quadruple of these rhythms. We give you an example of the national anthem and explain how its notation will be made.  First of all you take the lyrics of the national anthem, Jaan Gaan Maan Adhinayak Jaya Hey Bharat Bhagya Vidhata, then first of all you can go 4-4  Make two divisions of quantity, such as :—
                        1  2  3  4  । 1  2  3  4
  (2) Keep in mind that any song in this world, the word that gets the most emphasis is its starting point i.e. even. Its mark in tala is (× or +), in this notation h is
  (3) After writing the count, write each word of the song or hymn that you want to make a notation, one by one, under each letter of the count, each of their words under each letter of the count. Write down one by one and in the same way you first write down all the words of Sathai(First Part of the Song)and after that write down all the words of Antare,(Stanza)
  (4) After that keep the copy or diary on which you have written the notation on the harmonium. And play one bol on every swar to see which bol is playing on which swar like Jan ye bol will play on sa re swar and gana will play on gaga swar, man bhi gga pe bajega likewise on all syllables. Write it down and your notation will be ready, you can make the notation of any song and if you sing or play anything according to that notation, then you will not be disheartened at all, this is the only way to make notation of any song , ghazal or bhajan  formula
 

       Note:–if you have any question or suggestion, then you can tell me at the bottom of this post or on my youtube channel Mr. jolly’s Music classes’ You can tell by commenting below any video of.

                🙏🇲🇾🎤🎶🇱🇷🎼🇰🇷🎷🇦🇮🥫🇬🇧🎵🇭🇲🎹🇨🇦🇳🇪🙏

   किसी गीत की नोटेशन कैसे बनाएं

🙏🎹 दोस्तो, जब भी कोई संगीत सीखना शुरू करता है  और कुछ दिन अलंकार सीखने के बाद  उसके मन में एक बात जरूर आती है  कि मैं  भी  कोई  गीत, गज़ल या भजन गा कर या बजाकर देखूं और वैसे भी  कोई संगीत सीखता है तो इसीलिए  सीखता है कि वो कोई गीत, ग़ज़ल, या भजन गा या बजा सके,पर शुरू में किसी भी म्यूजिक बिगनर की तैयारी हरमोनियम पर इतनी अच्छी नहीं होती है कि वो किसी भी गीत को एक ही बार में प्रॉपर गा या बजा सके,इसलिए जब भी वो किसी गीत को गाता या बजाता है तो अक्सर बेसुरा हो जाता है।और वह बार-बार कोशिश करने के बाद भी किसी गीत को प्रॉपर ना गाने और ना बजा पाने की वजह से मायूस हो जाता है। पर इस चीज का एक उपाय है। अगर आप उस उपाय को अपनाऐंगे,ते आप किसी भी गीत को प्रॉपर सुर में गा पाएंगे।और वह उपाय है नटेशन जी हां, अगर आप किसी भी गीत भजन या गज़ल को नोटेशन का सहारा लेकर गाऐं या बजाएं तो आप  प्रॉपर सुर में गा सकते हैं।तो जो लोग म्यूजिक में एडवांस लेवल पर है उनको तो नोटेशन बनानी आती है लेकिन जो बिगनर हैं उनको नोटेशन बनानी नहीं आती है। आज की इस पोस्ट में मैं आपको नोटेशन बनाना सिखाने की कोशिश करूंगा,नोटेशन बनाने के लिए जो सबसे जरूरी चीज़ है, वो है ताल,अगर आपको किसी भी गीत गज़ल या भजन की नोटेशन बनानी है तो उसके लिए आपको ताल का प्रॉपर ज्ञान होना बहुत जरूरी है क्योंकि आपने अक्सर देखा होगा कि किसी भी नोटेशन के ऊपर एक गिनती लिखी होती है। उस गिनती से यह पता चलता है कि वो नोटेशन कौन सी ताल में है,आपको ज्यादा नहीं कम से कम जो इंडियन क्लासिकल म्यूजिक की मेन मेन तालें हैं, उनकी जानकारी ले लेना बहुत जरूरी है,

                         नोटेशन बनाने का तरीका

आप जब भी किसी गीत,भजन या गज़ल की नोटेशन बनाएं तो उससे पहले यह देख लें कि वो कौन सी ताल में है,ज्यादातर गीत कहरवा या दादरा ताल में होते हैं,कहरवा ताल 8 मात्रा की होती है और दादरा ताल 6 मात्रा की होती है।

(1)कहरवा ताल के बोल:– धा गे ना ती न क धि ना

(2) दादरा ताल के बोल :– धा धी ना  धा ती ना

इन तालों की दुगुन और चौगुन भी होती है।हम आपको राष्ट्रीय गान की उदाहरण देकर समझाते हैं कि इसकी नोटेशन कैसे बनेगी?सबसे पहले आप राष्ट्रगान के बोल ले लीजिए जान गाण मान अधिनायक जया हे भारत भाग्य विधाता, तो सबसे पहले आप 4-4 मात्रा के दो विभाग बना लीजिए,जैसे के :—

                1  2  3  4  ।  1  2  3  4

(2) ध्यान रखें इस दुनिया का  कोई भी गीत हो जिस शब्द पर सबसे ज्यादा ज़ोर पड़ता है वह उसका स्टार्टिंग पॉइंट यानी सम होता है। ताल में उसका निशान  (× या +) ऐसा  होता है, इस नोटेशन में ज है

(3) गिनती लिखने के बाद आप जो भी गीत या भजन की नोटेशन बनाना चाहते हैं उसके जो बोल होते हैं उसका हर एक शब्द गिनती के हर अक्षर के नीचे एक-एक करके लिख दें,उनका हर एक शब्द गिनती के हर अक्षर के नीचे एक एक करके लिख दें और इसी तरह आप पहले सथाई के सारे बोल लिख लें और उसके बाद अंतरे के सारे बोल लिख लें,

(4) उसके बाद वह कॉपी या डायरी जिस पर आपने नोटेशन लिखी हो, हरमोनियम पर रखें। और एक एक बोल हर स्वर पर बजाकर देखें कि कौन सा बोल किस स्वर पर बज रहा है जैसे कि जन ये बोल स रे स्वर पर बजेगा और गण ग ग स्वर पर बजेगा मन भी ग ग पे बजेगा ऐसे ही आप सारे बोलों पर सभी स्वर लिख लीजिए और आपकी नोटेशन तैयार हो जाएगी आप ऐसे है किसी भी गीत की नोटेशन बना सकते हैं और अगर आप उस नोटेशन के हिसाब से कुछ भी गाऐंगे या बजाएंगे तो बिलकुल भी बेसुरे नहीं होंगे बस यही है किसी गीत गज़ल या भजन की नोटेशन बनाने का फामुला

 

 

 

 


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!