How to become a Good Singer and Musician basic to advance Level

Spread the love

Rate this post
How to become a good Singer and Musician bscic to advance Level
🙏🎼🇬🇧🎻🇦🇮🎼🇲🇾🥫🇱🇷🎶🇭🇲🎵🇨🇦🇰🇷🎤🎷🇳🇪🙏
🎧🎤   Friends, whenever a person thinks of becoming a singer or musician or starts learning music, then many questions come in his mind, such as, I will be able to learn music or not, how long will it take to learn music, will I? Whether I will be successful by learning music or not, there are hundreds of questions like this. Keep coming to the mind of a music learner, keep getting answers to these questions from your mobile or laptop sitting at home, that’s why I have created this website and my YouTube channel ‘Mr.Jolly’s Music Classes’. Friends, it has always been my endeavor and it will always be my endeavor in future also that I can give all that knowledge to all the music I have learned from my gurus. So now let’s talk about the main topic of this post, whatever  People are learning new music, when they start learning music, then a question also comes in their mind that if we are learning music, then what we have to  learn to be successful in thbecause it is not necessary that everyone is learning music only by taking regular classes from a guru, there will be some people in the middle who learn music only online, so they are always confused about what we should do in music. What will have to be learned in time so that we can become a good Singer or Musician, So first of all let’s talk about Beginning, that what you have to learn in music at the Beginner level.
 
 

Basic Level 

BB
 
 (1) Determination:First point is determination, you have to take the determination that we have to learn music in any situation because it may happen that people make fun of you, and if you get Demotivated and stop learning music in the middle, then you You don’t have to care about anyone, whatever anyone says, you just have to do your Riyaz regularly.
 
 
 (2)Musical Instrument:– You will also need a musical instrument to learn music. If you want to become a singer then you have to take Harmonium and if you want to learn any instrument then you have to take that instrument, whatever you want to learn, you can get that instrument online from Amazon. Links to all these instruments are in my posts. are given below. You will be taken to Amazon’s site by clicking on its image and you can buy it from there. or you can also buy the instrument from a music store near you?
 
 
  (3) Knowledge of Notes:– After taking the instrument, if you want to learn singing, then first of all you have to take vocal knowledge, that how many notes are there in the music, how many are full tone, how many are half tone and how many tones are sharp tone, all of this. you must know.
 
 
 
(4) Learn to Ornaments:–  vocal knowledge, you have to learn ornaments. Well, there are many ornaments. But if you learn 20-25 ornaments in the beginning, then your work will be done because if you read more in the circle of ornaments, then the rest of your work will be left. You can learn the rest one by one later also.
 
 
 

   Advance Level 

 
(5) Knowledge of Raga:-   After learning Alankar, you have to learn Raag. You should have very good knowledge about ragas. Because in Indian classical music, the main thing is the raga itself, what are the main things you have to learn in ragas, let us also tell you that.
But  First of all, all the ragas you learn, you should know about their definition, which raga belongs to which Thaats, which is its caste(Jaati). What is his vocal Notes, what is his conversational tone? What are the main vocals in him, what are the forbidden notes in him, what is his Paked and what is his singing time. You should know all this very well.
 
 
  (6)Raga Bandish:- Along with the definition, you should also be able to play the bandish of ragas. Like Chhota Khyal,Bada Khyal, after that you should have a lot of knowledge about their taan, boltaan and their Aalaap.
 
 
 
 (7) Songs and Notations:–  After learning the raga, you have to learn small bhajans, songs and ghazals without it. After that you also have to learn to make the notation of any song or hymn, the advantage of learning to make notation is that if you teach music to anyone in the future, it will be easy to teach you music and you yourself can take the help of notation in the beginning you can also sing the song in hundred percent tone.
 
 
 
   (8) Rhythms and Chords:– After learning the raga, you also have to take the knowledge of chords and taals. By the way, there are many rhythms in Indian classical music.but you take knowledge of 10 Rhythms in the beginning, even then it becomes easy for you to learn music,
 
 
 
(9) You can also learn some Nagme, Tarana, Sargam Geet, and Lakshan Geet to master the music more.
 
 
 
Musician or Instruments Player
   Now let’s talk about what one has to learn to become an instrument player or a musician,
  
 
   (1) First of all, whatever instrument you are learning to play, you should have a good knowledge about all the parts.
 
  
   (2) After that, you will have to get a good knowledge about the vowels which are played on that wind instrument.
 
  
   (3) After that, you have to know as much as possible about the rhythms that are played on that instrument.
 
  
   (4) After that, whatever instrument you learn to play, you should also know how to do Tunnin it.
Note :—You can also Visit and Subscribe to My
YouTube channel Mr.jolly’s Music Classes to See Knowledgeful Videos of Theory and Practical related to Music,
Click on this link to watch the video :—
एक अच्छा गायक और संगीतकार कैसे बनें? बिगिनर लेवल से एडवांस लेवल तक,
🙏🎼🇬🇧🎻🇦🇮🎼🇲🇾🥫🇱🇷🎶🇭🇲🎵🇨🇦🇰🇷🎤🎷🇳🇪🙏
 
🎤🎧 दोस्तो जब भी कोई इन्सान सिंगर या संगीतकार बनने के बारे में सोचता है या फिर संगीत सीखना शुरू करता है तो उसके मन में बहुत सारे सवाल आते हैं, जैसे कि मैं संगीत सीख भी पाऊंगा कि नहीं, संगीत सीखने में कितना समय लगेगा,क्या मैं संगीत सीख कर कामयाब हो पाऊंगा कि नहीं,ऐसे ही ना जाने कितने सैकड़ों सवाल है। एक संगीत सीखने वाले के मन में आते रहते हैं,आपके इन सवालों के जवाब आपको घर बैठे ही अपने मोबाइल के द्वारा मिलते रहे इसलिए ही मैंने यह वेबसाइट और अपना यूट्यूब चैनल मिस्टर जोलीज़ म्यूजिक क्लासेस चैनल बनाया है। दोस्तो मेरी सदा ही यही कोशिश रही है और सदा भविष्य में यही कोशिश रहेगी कि मैंने जितने भी संगीत अपने गुरुजनों से सीखा है, मैं वह सब ज्ञान आप को दे सकूं।तो अब बात करते हैं। इस पोस्ट के मेन टॉपिक पर तो जो भी लोग नए संगीत सीख रहे हैं, संगीत सीखना शुरू करते हैं तो उनके मन में एक सवाल यह भी आता है कि हम संगीत सीख रहे हैं तो हमें संगीत में क्या क्या सीखना पड़ेगायह बात मैं इसलिए बोल रहा हूं क्योंकि यह जरूरी नहीं है कि हर कोई अपने गुरु से रेगुलर क्लास से लेकर संगीत सीख रहा हो कुछ ऐसे भी लोग बीच में होंगे जो सिर्फ ऑनलाइन ही से ही संगीत सीखते हैं।तो वह इस बात को लेकर हमेशा कंफ्यूज रहते हैं कि हमें संगीत में किस वक्त क्या चीज़ सीखनी पड़ेगी तांकि हम एक अच्छे सिंह सिंगर या संगीतकार बन सकें,तो सबसे पहले बात करते हैं बिगिनिंग की कि संगीत में आपको बिगनर लेवल पर संगीत में क्या-क्या चीज़ सीखनी पड़ेगी,
 
 
 
(1) सबसे पहला पॉइंट है दृढ़ संकल्प आपको दृढ़ संकल्प लेना पड़ेगा कि हमें किसी भी हालात में संगीत को सीखना है क्योंकि ऐसा भी हो सकता है कि लोग आपका मज़ाक भी उड़ाएं, और आप डोमोटिवेट होकर बीच में ही संगीत सीखना छोड़ दे, लेकिन आपको किसी की परवाह नहीं करनी है और आपको अपना रियाज़ रेगुलर करना है,
 
(2) संगीत सीखने के लिए आपको एक वाद्य यंत्र की भी जरूरत पड़ेगी। अगर आप एक सिंगर बनना चाहते हैं तो आपको हरमोनियम लेना पड़ेगा और अगर आप कोई इंस्ट्रूमेंट सीखना चाहते हैं तो आपको वो इंस्ट्रूमेंट लेना पड़ेगा जो भी आप सीखना चाहते हैं, आप वो इंस्ट्रूमेंट ऑनलाइन अमेजॉन से मंगवा सकते हैं।इन सभी इंस्ट्रूमेंट के लिंक मेरी पोस्टों के नीचे दिए रहते हैं। आप उसकी इमेज पर क्लिक करके ऐमेज़ॉन की साइट पर पहुंच जाएंगे और आप वहां से उसे खरीद सकते हैं।या फिर आप अपने पास के किसी म्यूज़िकल स्टोर से भी वह इंस्ट्रूमेंट खरीद सकते हैं?
 
(3) इंस्ट्रूमेंट लेने के बाद अगर आपको सिंगिंग सीखनी है तो सबसे पहले आपको स्वर ज्ञान लेना पड़ता है,कि संगीत में कुल कितने स्वर होते हैं, कितने शुद्ध होते हैं, कितने कोमल होते हैं और कितने स्वर तीव्र होते हैं, यह सब का आपको पता होना चाहिए।
 
(4) स्वर ज्ञान के बाद आपको अलंकार सीखने पड़ते हैं। वैसे तो बहुत सारे अलंकार है। लेकिन आप शुरुआत में 20-25 अलंकार सीख लें तो आपका काम चल जाएगा क्योंकि अगर आप ज्यादा अलंकारों के चक्कर में पढ़ेंगे तो आपका बाकी का काम रह जाएगा।बाकी आप एक-एक करके बाद में भी सीख सकते हैं।
 
 

अब बात करते हैं एडवांस लेवल की

 
(5) अलंकार सीखने के बाद आपको राग सीखने पड़ते हैं। आपको रागों के बारे में बहुत अच्छी खासी जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि इंडियन क्लासिकल म्यूजिक में सबसे जो मेन चीज़ हैं वो राग ही हैं,रागों में आपको मेन क्या-क्या चीज़ सीखनी पड़ती है चलिए वह भी बता देते हैं।
 
सबसे पहले तो आप जितने भी राग सीखें आपको उनकी डेफिनेशन के बारे में पता होना चाहिए कि कौन सा राग किस थाठ का है, उसकी जाति कौन सी है। उसका वादी स्वर कौन सा है, उसका संवादी स्वर कौन सा है?उसमें लगने वाले मुख्य स्वर कौन से हैं, उसमें वर्जित स्वर कौन से हैं, उसकी पकड़ क्या है और उसका गायन समय क्या है। इस सब का आपको बड़ी अच्छी तरीके से पता होना चाहिए।
 
(6)डेफिनेशन के साथ साथ आपको रागों की बंदिशें भी बजानी आनी चाहिए। जैसे के छोटा ख्याल बड़ा ख्याल उसके बाद उनकी तानें, बोलताने, और उनके आलाप के बारे में भी आपको बड़ा अच्छा खासा ज्ञान होना चाहिए।
 
(7) राग सीखने के बाद आपको छोटे-मोटे भजन, गीत और गजल बगैरा सीखने पड़ते हैं। उसके बाद आपको किसी भी गीत या भजन की नोटेशन भी बनानी सीखनी पड़ती है,नोटेशन बनाना सीखने का यह फायदा है कि आप भविषय में किसी को भी संगीत सिखाएंगे तो आपको संगीत सिखाना आसान हो जाएगा और आप खुद भी शुरुआत में नोटेशन का सहारा लेकर किसी भी गीत को हंड्रेड परसेंट सुर में गा सकते हैं।
 
(8) राग सीखने के बाद आपको कोर्डस और ताल का ज्ञान भी लेना पड़ता है। वैसे तो बहुत सारी तालें है। लेकिन अगर आप शुरू में 10 तालों का ज्ञान भी लें,तब भी आपके लिए संगीत सीखना आसान हो जाता है,
 
(9) संगीत में ज्यादा महारत करने के लिए आप कुछ नगमे, तराने, सरगम गीत, और लक्ष्मण गीत भी सीख सकते हैं।
 
 
 

अब बात करते हैं कि स्टूमेंट प्लेयर या संगीतकार बनने के लिए क्या क्या सीखना पड़ता है,

 
(1) सबसे पहले आप जो भी इंस्ट्रूमेंट बजाना सीख रहे हैं उसके सारे पार्ट के बारे में आपको अच्छी तरह जानकारी होनी चाहिए।
 
(2)उसके बाद जो बोल उस वाघ यंत्र पर बजते हैं उनके बारे में आपको अच्छी तरह जानकारी लेनी पड़ेगी।
 
(3) उसके बाद जो तालें उस वाद्य यंत्र पर बजाई जाती हैं उनके बारे में आपको ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी लेनी होगी
 
(4) उसके बाद आप जो भी वाद्य यंत्र बजाना सीखेंगे उसको स्वर भी करना आना चाहिए
 
 
 
Note:- Click on the image of Your favourite and Best Quality instrument to Purchase
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

 

 

 


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!