How can singing learners know whether we are singing in tone, or are out of Notes?

How can singing learners know whether we are singing in tone, or are out of Notes?

Spread the love

Rate this post
How can singing learners know whether we are singing in tone, or are out of Notes?
How can singing learners know whether we are singing in tone, or are out of Notes?

🙏🎶🇲🇾🎵🇨🇦🎤🇱🇷🎹🇬🇧🎻🇬🇧🎤🇦🇮🎷🇱🇷🎶🇳🇪🙏

How can singing learners know whether we are singing in tone, or are out of Notes?

🎤🎹🎶 Friends, whoever those peoples are learning music, especially those who are learning singing, then those people should read this post completely and carefully because in today’s post I am going to tell you the solution of one of your problems that every Beginners music learner. It is come often with him whatever learning music especially those who are learning singing, I mean to say that when a person reaches a good level by learning music, then it is very easy to know that he is singing in the voice (Proper Singing on the notes) . or is it Out of the notes but those who are beginners in music do not know whether they are out of notes or singing in tune, so in today’s post I am going to tell you five such points, after which it becomes very easy. You will be able to find out whether you are singing in your voice, or are out of notes And before telling that point, I would like to tell all of you that if you have come to this website for the first time and are reading this post and you are without any If you want to learn music without guru (Music Teacher) and without paying any fees, then I have written a post on this subject. If you want, you can read that post. And what are those 5 points, now let us tell you one by one:–

Read More:–How to learn music for free, without Fess, without any Music Teacher?

⭐⭐⭐⭐⭐

👍 Guys, If you like this post and find it knowledgeable, then please Vote, Support and Share this post.
(Press the star symbol at the beginning of the post.)

Point No (1)

Friends, the first point is that if you want us to sing any song, ghazal, bhajan or qawwali in any notes and never feel out of notes then do your riyaz in a very good way and there are many ways to do riyaz. According to them, do your proper and in maximum quantity, so that if you go ahead, you will not be out of notes . Because when you do Riyaz (Music Practice) well then you will get to know about the ups and downs of each notes and its sound, then you will also find it very easy to match the tone and you will be less, out of notes.
Read More:–Benefits of Riyaz (Music Practice) and Best Ways.

Point No. (2)

The second point is that you recite by pressing S and P swar (Notes) and after doing riyaaz(Music Practice) , whatever song you want to sing, ghazal, bhajan qawwali, then try to sing it by pressing s and p swar ( Musical Notes) . When you try to sing by pressing S and P notes then you will know very well where you are getting dissonant and where you are singing in tone, so to learn to sing in tone, practicing S and P notes is also very important. It is necessary for every music learners.

Point No. (3)

The next point is that whenever you try to sing something, you should choose the pitch very well. Do not choose a pitch too high that you have trouble singing or your throat does not go there, so whenever you select the pitch, do it correctly. Don’t use too high a pitch as you are at high risk of becoming out of notes. Don’t choose too high pitch.
Read More:–Just learn this one trick, you can play any song very easily. or how to play any song easily

Point No. (4)

The next point is that whenever you sing something and whatever tone you make, put it in a good way, the higher the sound of that tone, the higher the sound from your throat, you should not do that if The voice of the voice is high and you do not take out the sound slowly from the mouth, whatever the tone of the voice, try to sing it by applying the tone accordingly. match the proper Voice with the notes.

Read More:– If you want to become a master of the field of music, then always remember these 10 things,/ master in music Performance

Point No. (5)

The next and last point is that if you are a beginner in music, do not choose difficult songs, bhajans, qawwali or couplets. As much as you are prepared, try to sing it accordingly. If you try to sing a song with difficult notes, then there is a high risk of you becoming out of notes in that too, so if you are a beginner in music, then try to go to the easy song first and when your preparation becomes very good then After that you can also sing difficult songs, ghazals, bhajans or qawwali.

So friends, these were those 5 points i.e. 5 tips according to which if you will sing you will be less Out of Notes and if you are out of notes then you will know very easily that you are getting out of notes ? How did you like this post and tell me by commenting?

Note :–You can also Visit and Subscribe to My YouTube channel Mr.jolly’s Music Classes to See Knowledgeful Videos of Theory and Practical related to Music

Note:—-You can also follow me on my podcast channels to learn and understand music more easily, where I upload audio episodes related to music. You will find links to both in the description of any video on my YouTube channel ‘Mr. Jolly’s Music Classes

📝 Note :— Friends, if you have any question related to Indian Classical and folk Music or you want to give any suggestion, then you can tell me by commenting below this post. And if you want to read a post on a particular topic and you want me to write a post on that topic or else you want to learn to sing and play a particular song, Ghazal, Bhajan or Qawwali on Harmonium or Keyboard and you want If I make a video by making its notation, then you can also tell me about it by commenting below this post. I will try my best to write post and make video on that topic.Thanks.

Read More:–Top 20 Best Qualities of Music Learner and Music Teacher (Part-2)

🙏🎶🇲🇾🎵🇨🇦🎤🇱🇷🎹🇬🇧🎻🇬🇧🎤🇦🇮🎷🇱🇷🎶🇳🇪🙏

सिंगिग सीखने वाले ये कैसे जाने कि हम स्वर में गा रहे हैं, या बेसुरे हैं?

दोस्तो जो भी लोग संगीत सीख रहे हैं खासकर जो भी लोग सिंगिग सीख रहे हैं तो वो लोग आज की इस पोस्ट को पूरा और ध्यान से पढ़ें क्योंकि आज की इस पोस्ट में मैं आपकी एक ऐसीद समस्या का समाधान आपको बताने वाला हूँ जो हर संगीत सीखने वाले के मन में होती है खासकर जो भी लोग सिंगिग सीख रहे हैं, मेरे कहने का मतलब है कि जब कोई इंसान संगीत सीखकर एक अच्छे लेवल पर पहुँच जाता है तो उसको तो बड़ी आसानी से पता चल जाता है कि वो सवर में गा रहा है या बेसुरा है, लेकिन जो भी लोग संगीत में बिगनर होते हैं उनको पता नहीं चल पाता है कि वो बेसुरे हैं या सुर में गा रहे हैं तो आज की इस पोस्ट में मैं आपको ऐसे पांच पुआईंट बताने वाला हूं जिनको जाने के बाद यह बड़ी आसानी से पता लगा पाएंगे कि आप के स्वर में गा रहे हैं, या बेसुरे हैं।और वह पुआॉईट बताने से पहले मैं आप सब को बताना चाहूंगा कि अगर आप पहली बार इस वेबसाइट पर आए हैं और इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं और आप बिना किसी गुरु के और बिना कोई फीस दिए संगीत सीखना चाहते हैं तो इस विषय पर मैंने एक पोस्ट लिखी हुई है। अगर आप चाहे तो उस पोस्ट को पढ़ सकते हैं।और वो 5 पुआईंट कौन कौन से हैं चलिए अब एक – एक करके आपको बताते हैं:–

⭐⭐⭐⭐⭐

👍 नोट:–दोस्तो अगर आपको ये पोस्ट पसंद आए और नॉलेजफुल लगे तो इस पोस्ट को वोट, स्पॉट और शेयर ज़रूर करें (स्टार के निशान को ज़रूर दबाऐं जो पोस्ट की शुरुआत में हैं)

Point No. (1)

दोस्तो सबसे पहला पुआईंट तो यही है कि अगर आप चाहते हैं कि हम कोई भी गीत ग़ज़ल, भजन या कव्वाली कुछ भी स्वर में गाएं और कभी भी बेसुरे ना हो तो आप अपना रियाज़ बहुत अच्छे तरीके से करिए और जितने भी रियाज़ करने के तरीके होते हैं, उनके हिसाब से आप अपना रियज़ प्रॉपर और ज्यादा से ज्यादा मात्रा में करिए, ताकि आप आगे जाकर कुछ भी गएं तो आप बेसुरे ना हो। क्योंकि जब आप अच्छी तरह से रियाज़ करेंगे तो आपको हर स्वर के उतार-चढ़ाव के बारे में और उसकी आवाज़ के बारे में अच्छी तरह पता चल जाएगा तो आपको स्वर मिलाने में भी बहुत आसानी होगी और आप बेसुरा कम होंगे?

Point No. (2)

दूसरा पॉइंट यह है कि आप स और प सवर दबाकर रियज़ करें और रियाज़ करने के बाद आप जो भी गीत गजल, भजन कव्वाली कुछ भी गाना चाहते हैं तो उसको स और प सवर दबाकर गाने की कोशिश करें। जब आप स और प स्वर दबाकर गाने की कोशिश करेंगे तो आपको बड़ी अच्छी तरह से पता चल जाएगा कि आप कहां बेसुरे हो रहे हैं और कहां सुर में गा रहे हैं तो स्वर में गाना सीखने के लिए स और प सवर का रियाज़ करना भी बहुत ज़रूरी होता है।

Point No. (3)

अगला पॉइंट यह है कि आप जब भी कुछ गाने की कोशिश करें तो आप पिच का सिलेक्शन बड़े अच्छे तरीके से कर लें। आप ज़्यादा उंची पिच का सिलेक्शन मत करें कि आपको गाने में तकलीफ हो या आपका गला वहां तक ना जाए तो आप जब भी पिच की सिलेक्शन करें तो सही तरीके से करें। ज़्यादा उंच्चे स्वर सिलैकट मत करें उसमें आपको बेसुरे होने का ख़तरा ज्यादा रहता है।

Point No. (4)

अगला पॉइंट यह है कि आप जब भी कुछ गाते हैं और जो भी स्वर आप लगाते हैं तो उसको अच्छे तरीके से लगाएं उस स्वर की जितनी ऊंची आवाज़ होती है, आप अपने गले से उतनी ही उतनी ही उंची आवाज़ निकालें आप ऐसा मत करें कि अगर स्वर की आवाज़ ऊंची है और आप मुंह से धीरे आवाज़ मत निकालें, जैसी भी स्वर की आवाज़ हो आप उसी हिसाब से स्वर लगाकर उसको गाने की कोशिश करें।

Point No. (5)

अगला और लास्ट प्वाइंट यह है कि अगर आप संगीत में बिगनर हैं तो आप कठिन गीत, भजन, कव्वाली या फिर दोहे का सिलेक्शन मत करें। आपकी जितनी तैयरी हो, आप उसी हिसाब से उसको गाने की कोशिश करें। अगर आप कठिन स्वरों वाले गीत को गाने की कोशिश करेंगे तो उसमें भी आपके बेसुरे होने का खतरा ज़्यादा रहता है तो अगर आप संगीत में बिगनर है तो आप आसान आसान से गीत पहले जाने की कोशिश करें और जब आप की तैयारी बड़ी अच्छी हो जाए तो उसके बाद आप कठिन गीत, ग़ज़ल, भजन या कव्वाली भी गा सकते हैं।

तो दोस्तो, ये थे वो 5 पॉइंट यानी कि 5 टिप्स जिनके हिसाब से अगर आप कुछ भी गाएंगे या बजाएंगे तो आप बेसुरे कम होंगे और अगर आप बेसुरा भी होंगे तो आपको बड़ी आसानी से पता चल जाएगा कि आप बेसुरे हो रहे हैं? आपको यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताएं?

📝 नोट:—दोस्तो अगर आपका इंडियन क्लासिकल और फोक म्यूजि़क से रिलेटेड कोई भी सवाल हो या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं या फिर कोई नौलज शेयर करना चाहते हैं, तो आप इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके मुझे बता सकते हैं। और अगर आप किसी खास विषय पर कोई पोस्ट पढ़ना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि मैं उस विषय पर पोस्ट लिखूं या फिर आप हरमोनियम या कीबोर्ड पर किसी खास गीत,ग़ज़ल,भजन या कवाली को गाना और बजाना सीखना चाहते हैं और आप चाहते हैं कि मैं उसकी नोटेशन बनाकर वीडियो बनाऊूं तो आप उसके बारे में भी इस पोस्ट के नीचे कमेंट करके मुझे बता सकते हैं। मैं उस विषय पर पोस्ट लिखने की और वीडियो बनाने की पूरी कोशिश करूंगा।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!